अजीब ज़ुल्म…

जिस हॉस्पिटल के हम डॉक्टर हैं,
हमारी पत्नी वहा की नर्स हैं
क्या अजीब ज़ुल्म सहना पड़ता हैं
अपनी ही बीवी को सिस्टर कहना पड़ता हें

तुम आये…

तुम आये तो लगा हर खुशी आ गई
यू लगा जैसे ज़िन्दगी आ गई
था जिस घड़ी का मुझे कब से इंतज़ार
अचानक वो मेरे करीब आ गई …………

जान पर खेल कर…

पागल हे वो लोग जो अपने लवर को मिस किया करते हे
अरे!! मिस करना हे तो मच्छर को करो
जो अपनी जान पर खेल कर आप को किस किया करते हे|

लैला — मजनू

मजनू को लैला का SMS नही आया..
मजनू ने 3 दिन से खाना नहीं खाया..
मजनू मरने वाला था लैला के प्यार में
और लैला बेती थी SMS FREE होने के इंतेज़ार में..

सच ही सुना है

सितारो मे आप, हवाओ मे आप,
फ़िज़ाओ मे आप,
बहारो मे आप,
धूप मे आप,
छावो मे आप,

सच ही सुना है की बुरी आत्माओ का कोई ठिकाना नही होता